आयुष्मान खुराना के साथ भी हुआ था कास्टिंग काउच का हादसा

शुभ मंगल ज़्यादा सावधान

शुभ मंगल ज़्यादा सावधान

आयुष्मान खुराना, नाम लेते ही एक ऐसा एक्टर याद आता है जिसने बॉलीवुड को कंटेंट इस्तेमाल करना सीखा दिया। यही वजह है की लगातार उनकी फिल्मे हिट होती जा रही है। आयुष ने अपने करियर की शुरुआत साल 2012 में आयी फिल्म विक्की डोनर से की और देखते ही देखते ये सितारा बुलंदियों पर पहुंच गया। इनकी आखरी फिल्म सुबह मंगल ज़्यादा सावधान थी जो सम लैंगिक प्यार या यु कहे homosexual सब्जेक्ट पर आधारित है।
Homosexuality की बात करने पर हमेशा बॉलीवुड का वो घिनोना चेहरा सामने आता है जिसे कहते कास्टिंग काउच (casting couch ) हालही में pinkvila को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने अपना ये एक्सपीरियंस शेयर किया जब शो के एंकर ने उनसे कास्टिंग काउच पर सवाल पूछा।

क्या आप के साथ कभी कास्टिंग काउच का इंसिडेंट हुआ है या किसी ने काम देने के लिए कोई सेक्सटुअल फेवर माँगा है।


आयुष्मान ने कहा : जी हां मेरे साथ एक ऐसा वाक्या हो चूका है , जब एक डायरेक्टर ने मुझे ऑडिशन के लिए बुलाया था। वहा उसने मुझसे एक अजीबोगरीब मांग की बोला की क्या में तुम्हारा टूल देख सकता हूँ? अगर तुम ऐसा करोगे, तो में तुम्हे अपनी फिल्म में लीड रोल दूंगा। मैंने बड़े प्यार से उसके इस ऑफर को मना कर दिया। मैंने कहा मुझे लड़कियों में दिलचस्पी है लड़को में नहीं।

आयुष्मान जोकि मल्टीटैलेंटेड है। उन्होंने बताया की उन्हें बॉलीवुड में जगह बनाने में ज़्यादा स्ट्रगल नहीं करना पड़ा बॉलीवुड में आने से पहले वो कई काम कर चुके थे जैसे RJ, टीवी एंकरिंग, रोडीज़ और ही कई ऐसे काम कर चुके है .इसलिए उन्हें यकीन था की अगर फिल्मो में उनका काम नहीं भी बनता है तो भी वो कुछ न कुछ ज़रूर कर लेंगे।

अपने इस इंटरव्यू में आयुष्मान ने अपनी एक शिकायत के बारे में भी बताया जो होने मुंबई से है। उन्होंने एक किस्सा शेयर करते हुए कहा की जब में मुंबई नया नया आया था और एक पार्टी में गया हुआ था उस दिन बहुत ज़ोर की बारिश हो रही थी। मुझे लगा की वो घर जाते वक्त कोई न कोई मुझे अपनी गाड़ी में घर तक छोड़ देगा। मगर ऐसा नहीं हुआ सब एक के बाद एक चले गए। और उस दिन मुझे दो घंटे पैदल चलकर अपने घर लोखंडवाला पहुंचा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *