इस एक्ट्रेस का पूरा चेहरा खराब कर दिया था एक थप्पड़ ने

ललिता पवार

ललिता पवार

ललिता पवार भारतीय फिल्म जगत की वो एक्ट्रेस थी जिन्होंने लगातार 70 सालो तक बॉलीवुड में काम किया था। इन्होने 700 से ज़्यादा फिल्मो में काम किया था जिसमे हिंदी गुजराती और मराठी फिल्मे प्रमुख है। उनके द्वारा की गयी फिल्मो में अनारी, श्री 420 , मिस्टर एंड मिसिस 55 प्रमुख है।

पवार का जन्म 18 अप्रैल 1961 अम्बा लक्समन में हुआ था, रुढ़िवादि परिवार के नाषिक के येओला में उनके पिता लक्समन राओ शगुन जी रेशम और रुई के बड़े व्यापारी थे। साल 1928 में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की जब वह 9 साल की थी । बाद में उन्होए कई साइलेंट फिल्मो में भी काम किया। और उसके बाद उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में लगभग 70 सालो तक काम किया।

उन्होने एक साइलेंट फिल्म में काम किया था जिसका नाम कैलाश था जो 1932 में प्रोडूसेड हुई थी और उसके बाद एक दूसरी मुहक फिल्म प्रोडूसेड की जिसका नाम था दुनिया क्या हैं 1938 में । 1942 में एक बार एक्टर मास्टर भगवान् ने जंग – इ -आज़ादी की मूवी के एक सीन में उन्हें जोर से थपड मारा था जिससे उनको चेहरे का लकवह हो गया और अपनी लेफ्ट आंख की नस। तीन साल के लम्बे इलाज के बाद भी उनकी आँख पूरी तरह से ठीक नहीं हो पायी थी । जिसकी वजह से उन्हें प्रमुख किरदार छोड़ कर साइड रोल ही करने पड़े थे। जिसकी वजह से उन्हें अपनी ज़िन्दगी में ज़्यादा सक्सेस मिली थी।

उन्हें ख़ास करके माँ या खड़ूस सास के रूप में ज़्यादा देखा जाता था उन्होंने एक यादगार छोटा सा कॅरेक्टर साल 1959 में आयी राज कपूर की फिल्म अनारी में काम किया था। ऋषिकेश मुखर्जी के साथ उन्होंने इस फिल्म में किये काम के लिए उन्हें फिल्म बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवार्ड मिला था। रामानंद सागर की रामायण में किये कुटिल मंथरा के किरदार किया था । साल 1962 में वो पहली महिला थी जिन्हे भारत सरकार की तरफ से सम्मान मिला था।

उनकी शादी शुदा ज़िन्दगी कुछ खास नहीं रही उनकी पहली शादी गणपत राओ पवार से की लेकिन उनकी यह शादी ज्यादा सफल नहीं रही
उनसे तलाक लेने के बाद उन्होंने फिल्म प्रोडूसर राजप्रकाश गुप्ता से शादी की और 24 फरवरी 1998 में उन्होंने अपने पुणे स्थित घर में आखरी सांस ली।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *